इस्लाम धर्म का पूरा निचोड़ (एड़ी से छोटी तक)-- बात में दम लगे तो जरूर शेयर करे

इस्लाम धर्म और इसके समाज के विभिन्न अंगो की परिभाषा :

धर्म : तलवार और अत्यधिक मैथुन से १ महामारी की तरह फैली हुई मान्यता जिससे पूरी दुनिया त्रस्त है .

मुख्य भगवान्: जिसका कोई चित्र नहीं है .. कोई सबूत नहीं है .. कोई चमत्कार नहीं है, सिर्फ लोगो को डराकर इसे भगवान् मनवाया गया.

मुख्य धर्मगुरु : १ अत्यंत ही विवादास्पद व्यक्ति, जिसके द्वारा कोई अच्छा कार्य करने का सबूत नहीं. इसके बारे में कोई लेखक, फिल्मकार सच्चाई प्रस्तुत करता है तो इसके अंधभक्त हंगामा खड़ा करते है. अपनी पोती के बराबर उम्र की लडकी से शादी करने का रिकॉर्ड.

शासक : धर्मांध , वासना से चूर , अहंकारी , अन्यायी , खुनी होते है

क़ानून: महिला विरोधी, अन्याय पूर्ण, निम्न आदर्शो पर आधारित, मानव विरोधी, बलात्कार और अन्य धर्म के व्यक्ति को मारना कानूनी तौर पर वैध होता है .

धर्मावलम्बी: अंध भक्त, अवैज्ञानिक, स्त्री विरोधी, अंध मान्यताओ और रुढियो में जकड़े हुवे होते है. इनकी धर्मान्धता इन्हें किसी को कत्ल करने और देश से गद्दारी करने तक लेकर जाती है .

धर्म के ठेकेदार: बेहुदे फतवे निकालने वाले, जनता को देश के कानून के प्रति भड़काने वाले, अलगाववादी और आतंकवादियो का समर्थन करने वाले.

अब धर्म निरपेक्ष व्यक्ति अगर कहते है की चीजो को धर्म से जोड़कर नहीं देखे, तो चलो इन चीजो को इस्लाम से बहार निकाल दोगे तो सिर्फ हिन्दू ही बचेगे इस्लाम खत्म हो जायेगा. 

 
Top