टोपी पहनने और पहनाने वाले नेताजी के अंधभक्त कृपया इस लेख को अवश्य पढ़ें )
आजकल एक नेताजी भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान छेड़े हुए हैं जोकि अच्छी बात है परन्तु इस देश की कुछ और समस्याएं भी हैं जो भ्रष्टाचार के मुद्दे से बड़ी हैं ....जिन पर ये तथाकथित नेताजी ध्यान नहीं जाने दे रहे हैं l इसका कारण क्या है यह तो हम अच्छे से जानते हैं पर यदि हमने बता दिया तो नेताजी के चेले बदहजमी के कारण उल्टियाँ करने लगेंगे l

इस देश की पांच बड़ी समस्याएं हैं :
1) कमज़ोर होती भारतीय सेना
2) बांग्लादेशी घुसपैठिये
3) विदेशी कम्पनियों का बढ़ता प्रभाव
4) कश्मीर समस्या
5) भ्रष्टाचार
बाकी सारी समस्याओं का मूल कारण इन्ही पांच समस्याओं से जुड़ा है l आजकल एक ख़ास प्रकार के नेताजी उभर रहे हैं जो कहते हैं की बाकी सब पार्टियाँ और नेता चोर है , पूरे ब्रहमांड में केवल उनकी पार्टी की एकमात्र ऐसी पार्टी है जो सबसे इमानदार है l
इन नेताजी ने इन 5 समस्याओं में से एक समस्या को पकड़ लिया है और बाकी 4 समस्यों से सबका ध्यान हटाने में लगे हैं क्योंकि इनके लिए पहली 4 समस्याएं कुछ ख़ास मायने रही रखती l
आइये जानते हैं कैसे .....

1) कमज़ोर होती भारतीय सेना
दिन प्रतिदिन कमज़ोर होती भारतीय सेना पर इन जनाब का कोई रुख अब तक सामने नहीं आया है, हथियार बनाने वाली कम्पनियां नेताओं को पैसा खिलाकर देश के वैज्ञानिकों को स्वदेशी हथियार विकसित नहीं करने दे रही हैं जिस कारण सेना पूर्णतया विदेशी हथियारों पर निर्भर हो गयी है l ये हथियार या तो अमरीका,रूस और फ्रांस जैसे देशों से भारत को लेने पड़ते हैं जिस कारण ये देश अपनी मनमानी शर्तें भारत से पूरी करवाते हैं जैसे ...FDI, भारतीय प्राकृतिक सम्पदा को कौड़ियों के भाव लेना वगेराह वगेराह तथा रूस की खुफिया एजेंसी के पास गाँधी परिवार की काली करतूतों की फ़ाइल होने की वजह से सरकार भारतीय सेना के लिए सबसे घटिया किस्म के हथियार ऊंचे दामों पर खरीद रही है वो भी दलाली के साथ l
इस गंभीर विषय पर इन नेताजी ने अब तक अपना कोई रुख स्पष्ट नहीं किया है .......पर हां कल एक बयान ज़रूर आया है की "लडाई किसी मसले का हल नहीं ".....
इन नेताजी के अंध भक्त कहेंगे की इसमें गलत क्या है ??
तो भैया, यह बात तो कांग्रेस ,महेश भट्ट और मणि शंकर अय्यर जैसे सेकुलर कीड़े भी करते हैं फिर हम इन टोपीवाले नेताजी को कांग्रेस का एजेंट क्यों ना माने ?

2) बांग्लादेशी घुसपैठिये
आज इस देश में 2 करोड़ से ज्यादा बांग्लादेशी घुसपैठिये हैं जो देश की आर्थिक, सामजिक और तांत्रिक व्यवस्था के लिए खतरा हैं l बांग्लादेशियों को भारत में घुसाने के लिए सऊदी अरब से पैसा आता है जो हर पार्टी को जाता है जिससे बांग्लादेशियों के खिलाफ कोई कानून ना बनाया जाए और ना ही उनपर कोई कार्यवाई की जाए l जो नेता फिर भी बांग्लादेशियों का विरोध करता है उसे न्यूज़ चैनलों के माध्यम से घोर सांप्रदायिक और भ्रष्ट बनाया जाता है l जैसे नरेद्र मोदी जिनके पीछे मीडिया 10 वर्षों से पड़ा है, सुप्रीम कोर्ट भी उन्हें कई भार क्लीन चिट दे चुका है फिर भी उन्हें सांप्रदायिक और भ्रष्ट साबित करने की कोशिश की जा रही है और अब इस कोशिश में ये टोपी वाले नेताजी भी उतर गए हैं l
बांग्लादेशियों के मुद्दे पर इन नेताजी का बयान आया था की "असम दंगों में बोडो लोगों के साथ जो हुआ वो गलत हुआ, उन्हें इन्साफ मिलना चाहिए परन्तु किसी बांग्लादेशी के साथ भी नाइंसाफी नहीं होनी चाहिए " .....अब अंधभक्तों को इस बयान में भी कोई बुराई नज़र नहीं आएगी पर इससे साफ़ है 'बांग्लादेशियों के साथ नाइंसाफी' ना होने देने का मतलब है की उन्हें ये नेताजी भारत का नागरिक स्वीकार कर लेंगे l

3) विदेशी कम्पनियों का बढ़ता प्रभाव
आज विदेशी कम्पनियां इस देश लूट लूट कर खोखला करने में लगी हुई हैं, देश की प्राकृतिक सम्पदा का मनमाने दंगे से उपयोग और जनता की सेहत से खिलवाड़ कर देश को आर्थिक और स्वास्थ्य के तौर पर भी कमज़ोर कर रही हैं पर इस गंभीर विषय इन नए नेताजी का ना तो कोई एजेंडा है ना कोई सोच l पर अंधभक्तों को इससे भी कुछ फर्क नहीं पड़ता क्योंकि इन नेताजी के भक्त इन्ही कम्पनियों में काम करते हैं ....और इन कम्पनियों का दिया ही खाते हैं , इसलिए इन कम्पनियों पर कार्यवाई करने का तो सोचा भी नहीं जा सकता l

4) कश्मीर समस्या
इस मामले में नेताजी क्या विचार रखते होंगे यह तो उनके साथियों के बयानों से ही साफ़ हो जाता है जो कहते हैं की "कश्मीर समस्या का समाधान यही है की उसे पाकिस्तान को दे दिया जाये" और कल ही नेताजी का पाकिस्तान प्रेम दर्शाते एक बयान के बाद ये साफ़ हो गया है की उनका भी इस मामले पर क्या रवैय्या है इसलिए यह तो पक्का है इन नेताजी के सत्ता में आते ही भारत में 28 के बजाये 27 राज्य हो जायेंगे l यदि कश्मीर आज़ाद कर दिया जाये तो अमरीका तो इसी इंतज़ार में बैठा है की वो वहां बेस बनाये और पूरा कश्मीर अपने कब्ज़े में लेले जिससे वो चीन पर काबू रख सके और ऐसा कदम भारत की अखंडता के लिए गंभीर खतरा साबित होगा क्योंकि इस एक फैसले के पंजाब, उत्तर पश्चिमी राज्यों में अलगाववादी गतिविधियाँ भड़क उठेगी साथ ही देश में सांप्रदायिक दंगे होने की पूर्ण सम्भावना है l

5) भ्रष्टाचार
इस मामले में टोपी वाले नेताजी बड़े कमाल के नजर आते हैं जैसे इस देश से भ्रष्टाचार ख़त्म करके ही मानेंगे l इसके लिए इन्होने एक कानून तैयार किया जिसका नाम कुछ 'जन लोकपाल' करके था ....
इस कानून में 2 बार जनता का नाम आता है पर जनता का इससे दूर दूर तक वास्ता नहीं क्योंकि लोकपाल चुनने के लिए इसमें जनता की कोई भागीदारी नहीं है l इस क़ानून में कुछ ऐसे खंड डाले गए हैं जो कहते हैं की लोकपाल चुनने वाला 'Magsaysay' अवार्ड विनर होना चाहिए, मतलब इन नेताजी ने अपने आपको और अपनी गुरु कम्युनिस्ट अरुणा रॉय को क़ानून के माध्यम से निर्णायक बना दिया है l
दूसरा यह की इस कानून के माध्यम से भ्रष्टाचार ख़त्म होगा यह तो कहा नहीं जा सकता पर 'जिंदल जी' (जिनके नेताजी से मधुर सम्बन्ध हैं ) के लिए काम बहुत आसान हो जाएगा क्यों आज उन्हें 25 लोगों को रिश्वत देनी पड़ती है पर लोकपाल के आने के बाद केवल लोकपाल को रिश्वत देनी पड़ेगी l

इसके बाद भी खुलासे करने में माहिर इन नेताजी का भ्रष्टाचार पर दोहरा रवैय्या है, इनके लिए कोयला, 2G ,थोरियम,आदर्श,सिंचाई, स्टेम्प पेपर आदि घोटालों से बड़ा भ्रष्टाचार विपक्ष के नेताओं की चिंदी चोरी है जिससे साफ़ होता है की इनका मकसद भ्रष्टाचार मिटाना नहीं बल्कि कुछ और है l क्योंकि इन नेताजी को सत्ता में बैठे नेताओं के हजारों-लाखों करोड़ से घोटालों से ध्यान हटाकर कैलेंडरों द्वारा विपक्ष को सरकार जैसा साबित करना और अंधभक्तों की फ़ौज इकट्ठी कर उन्हें कभी पूरे न हो पाने वाले सपने दिखाकर कांग्रेस को सत्ता में वापस लाते रहना है l

कभी नेताजी ने एफिडेविट दिया था की वो चुनाव नहीं लड़ेंगे पर आज पार्टी बनाकर नेतागिरी में लगे हैं .........:)

टोपी वाले नेताजी के अंधभक्तों से निवेदन : कृपया लेख में दर्शाये गए मुद्दों पर अपने नेताजी की राय लेने के बाद ही अपनी अंधभक्ति निभाएं l एक वर्ष पहले हम भी उसी बिमारी से ग्रसित थे जिससे आप हैं परन्तु हमारा इलाज सफलतापूर्वक हो चुका है किन्तु आपका इलाज संभव नहीं क्योंकि आप बिमारी को ही स्वास्थ्य मानते हैं l

यह विडियो देखिये कि कुमार विश्वास साहब तो शिव और ब्रह्मा का मजाक किस तरह उड़ा रहे हैं - - -
लिंक- https://www.youtube.com/watch?v=IXtRKC0seAE

केजरीवाल Rss को साम्प्रदायिक, मोदी जी को मानवता का हत्यारा, बाबा रामदेव को भ्रष्ट कहते हैं... ISI एजेंट बुखारी का साथ, कश्मीर को भारत से अलग कर दीजिये.......मुस्लिम को आरक्षण की मांग...
आज तक केजरीवाल ने कुछ भी नही किया है, केबल खुलासों की मंडी लगाकर खुलासा करता है और फिर न कोई कार्यवाही करता है और न सुप्रीम कोर्ट जाता है..
आप ओवेसी के खिलाफ कुछ नही बोले बल्कि सुदर्शन न्यूज़ को उसके खिलाफ बोलने को मना किया--
http://www.youtube.com/watch?v=HiyRCEDjLBs

मेरी तो खेर छोड़ ही दीजिये ''आप'' के कट्टर समर्थक भी आपको गालियाँ देते फिर रहे हैं आपकी असलियत सामने आने के बाद.



नोट: हम आपके टोपी वाले नेताजी का विरोध मुद्दों के आधार पर करते हैं ना की किसी और नेता की अंधभक्ति के कारण l
 
Top