लोगो के दर्द को समझो मनमोहन जी ,
उन्हें रोने दो ,
जिद छोड़ दो ,
इंडिया गेट को खोल दो ,
आज सभी को एक होने दो ,

दर्द और गुस्से को ना दबाओ ,
बहुत जला है दिल ,
और मत जलाओ ,
पुलिस को बोल दो ,
इंडिया गेट को खोल दो ,
हम एक होकर रोना चाहते हैं ,
बहुत दिनों बाद सब रोना चाहते हैं ,
हमे खुल कर रोने दो ,
जिद छोड़ दो ,
पुलिस को बोल दो ,
इंडिया गेट को खोल दो , जय हिन्द 
 
Top