आज 31 दिसंबर है... और कल ... यानि 1 जनवरी को ..... हमें दो सौ साल तक गुलाम रखने .... और, हम पर बेहिसाब जुल्म करने वाले.... अंग्रेजों का नव वर्ष है....!

लेकिन.... मैं ये बात भली -भांति जानता हूँ कि..... आज भी हमारे देश में वैसे लोगों की बहुतायत है..... जिनके बाप दादाओं ने.... अंग्रेजों का नमक खाया था...... और, वैसे बेचारे ... आज भी क्रिसमस.... और... नया साल मनाकर..... अपने पुरखों पर .... अंग्रेजों द्वारा खिलाए गए "" नमक का हक़ "" अदा कर रहे हैं...... भले ही इसके लिए उन्हें अपनी मातृभूमि , देश और धर्म से गद्दारी ही क्यों ना करनी पड़े....!

मैं एकदम स्पष्ट शब्दों में बता दूँ कि..... जिसको जो समझ आता है करे....... या तो नए साल में दारु पिए.... या फिर ..अपनी गर्ल फ्रेंड ले कर घूमे ...... अथवा ...किसी जंगल में जा कर पिकनिक मनाएँ .... या फिर..... पैन्ट खोल कर सड़क पर ही क्यों ना लेट जाए......... लेकिन.... कृपया मुझे .... इस गुलामी मानसिकता भरी.... नाटक-नौटंकियों से दूर ही रखें.....!

मैं अंग्रेजों का नया साल ... नहीं मनाता हूँ..... क्योंकि.... मैं एक सनातन हिन्दू हूँ.... और... मेरे रगों में एक शुद्ध हिन्दू खून दौड़ रहा है..... क्योंकि... मेरे पिताजी भी हिन्दू थे ......तथा, उनके ..... उनके पिताजी भी हिन्दू ही थे........!

इसीलिए हिन्दू हिन्दू होने के नाते ..... मेरा नववर्ष ..... 11 अप्रैल अर्थात .... १ चैत्र ........... को आने वाला है.... जिसे मैं बहुत ही धूम-धाम और हर्षो -उल्लास से मनाना चाहता हूँ....!

जिसे अंग्रेजों को नव वर्ष मनाना है .... वे जरुर मनाएँ........ लेकिन..... अंग्रेजों का नया साल मनाने से पहले ..... कृपया.... वैसे लोग.... अपना खून और डीएनए जाँच जरुर करवा लें....... कहीं... ऐसा तो नहीं कि..... उनके रगों में किसी सनातन हिन्दू के बजाए.... किसी ईसाई का खून दौड़ रहा हो....... और, वे अपने हिन्दू पिता के बजाए..... किसी अंग्रेज के एहसान का ही नतीजा हों....!

जय महाकाल...!!!
 
Top