कसाब अभी भी जिन्दा है ,,,,,,,,

कुछ लोगो के कातिल ह्रदय में कसाब अभी भी जिन्दा है |

लादेन का फातिया पढने वालो का लादेन अभी भी जिन्दा है ||

जिन्दा है दहशत कुछ लोगो में ताज का मंजर जिन्होंने देखा था |

कुछ टुकड़े कम है शरीर में उनके,गफ्फार मार्केट में जिनका जिस्म तडफा था ||

बनारस घाट के विस्फोट में घायल जिन्दा होकर भी मुर्दा है |

कुछ लोगो के कातिल ह्रदय में कसाब अभी भी जिन्दा है ||

अक्षरधाम हमले में अपनों को खोया माँ भारती के लालो ने |

उन लालो पर आतंकी सोराह्बुद्दीन एनकाउन्टर का मुकदमा चलता है ||

राम जानकी मंदिर में जिन आतंकियों ने खेली खून से होली थी|

जो संसद की दीवारों के अन्दर आतंकियों की चली ताबड़ तोड़ गोली थी ||

उन आतंकियों को चिकन बिरियानी खिला खिला कर पाला जाता है |

वोट बैंक की खातिर रोज नए कसाबो को दामाद बनाया जाता है ||

माँ की गोद से जिन आतंकियों ने बच्चो को छिना था |

उन आतंकियों का मसीहा कसाब अभी भी जिन्दा है ||

नपुंसक बन कर बैठे है सत्ता के दलाल भरी सभाओं में |

भारत मुर्दाबाद के नारे लगते कश्मीर की सूनी फिजाओं में ||

जागो जागो हिन्दू वीरो ये समय अब नहीं है सोने का |

बतला दो उन पाकी मुल्लों को आ गया है समय उनके रोने का ||

कुछ लोगो के कातिल ह्रदय में कसाब अभी भी जिन्दा है |

लादेन का फातिया पढने वालो का लादेन अभी भी जिन्दा है ||


जागो हिन्दू वीरों ,, सेकुलर नहीं सनातनी बनो |

इन्डियन नहीं भारतीय बनो ||

जय जय सियाराम ,, जय जय महाकाल ,, जय जय माँ भारती ||

______________________________ जीत शर्मा " मानव "
 
Top