सटीक !! जब पत्रकारों की इस तरह की प्रजाति का दिल दलाली में और दिमाग दीवालिया हो तब यही होता है !! दुर्भाग्य से पत्रकारों की पराक्रमी प्रजाति अब दुर्लभ हो रही है और परिक्रमा करने वाले पत्रकार प्रचुर मात्रा में हैं।
 
Top