कल जब मुसलमानों द्वारा हैदराबाद में भाग्यलक्ष्मी का मंदिर तोड़ने की धमकी दी थी, तब सिखों का जत्था हजारों की संख्या में अपनी नंगी तलवारें हवा में लहराते हुए चार मीनार पहुच गए थे, और सरे आम कहा था कि यदि मंदिर तोडा गया तो हैदराबाद को मुसलमानों का कब्रघा बना दिया जाएगा,

और आज उसी सरदारों ने कहा है कि कल जो बालासाहेब की अंतिम यात्रा में जो भी लोग जा रहे हैं उनके लिए म
ुम्बई में सभी गुरुद्वारे सभी लोगों के लिए खुले हैं. !

यदि आप कहीं फंस जाएँ तो पास के किसी नजदीकी गुरुद्वारे में पहुँच जाएँ, वहाँ रहने और लंगर की व्यवस्था सिक्ख भाईओं द्वारा की गई है.!

ये वही बालासाहेब हैं जिन्होंने 84 के दंगो में एक भी सरदार को मुम्बई में कांग्रेस के हाथों कटने नहीं दिया था, और सरे आम कांग्रेस को चेतावनी दी थी, यदि मुम्बई में एक भी सरदार मारा गया तो, कांग्रेस के लिए अच्छा नहीं होगा !

शायद बालासाहेब की वो नेकी और उदारता आज तक हमारे सिख भाई भूले नहीं हैं, जिसके लिए आज सरदार खुले दिल से बालासाहेब के लिए आगे आए हैं !

वाहेगुरु जी का खालसा वाहेगुरु जी की फ़तेह

बालासाहेब अमर रहें .. !

बालासाहेब को भावविनी श्रधांजलि !

जय हिन्द, जय भारत, वंदेमातरम !
 
Top