कांग्रेसिओं द्वारा महिलाओं पर किए गए कुकर्मों की एक छोटी सी सूची..

:- नारी जाति का अपमान तब नही हुआ जब वरिष्ट कांग्रेसी नेता एन.डी तिवारी ने शादी का झांसा देकर एक महिला का पहले तलाक करवाया फिर बेटा पैदा करके छोड़ दिया |

:- नारी जाति का अपमान तब भी नही हुआ जब इसी तिवारी ने राजभवन को वेश्यालय बना दिया और एक साथ चार- चार नाबालिक लडकीयों से कामक्रीड़ा करते हुए एक स्टिंग ओपरेशन में कैद हुआ |

:- नारी जाति का तब भी अपमान नही हुआ जब पूर्व केन्द्रिय मंत्री ए.आर अंतुले ने कहा था की महिलाये सिर्फ चारदीवारियों में कैद होने के लिए बनी है|

:- नारी जाति का अपमान तब भी नही हुआ जब राजस्थान के कांग्रेसी केबिनेट मंत्री मदेरणा ने एक दलित महिला को प्रोमोशन का लालच देकर कई बार उसके साथ बलात्कार किया फिर हत्या करवा दी |

:- नारी जाति का तब भी अपमान नही हुआ जब कांग्रेस के हरियाणा के गृहमंत्री गोपाल कांडा अपने से ३० साल छोटी लड़की को बरगलाकर सेक्स किया फिर आत्महत्या करने पर मजबूर कर दिया |

:- नारी जाति का अपमान तब भी नही हुआ जब कांग्रेस के वरिष्ट सांसद और मुख्य प्रवक्ता अभीसेक्स मनु सिंघवी ने एक महिला को जज बनाने का लालच देकर बारम्बार बलात्कार किया |

:- नारी जाति का अपमान तब भी नही हुआ जब कांग्रेसी नेता और हरियाणा के उपमुख्यमंत्री चद्रमोहन ने इस्लाम कुबूल करके २० दिन के लिए अनुराधा उर्फ़ फिजा से शादी किया फिर जी भर जाने के बाद उसे लन्दन से तलाक देकर वापस हिन्दू बनकर अपनी पहली पत्नी के पास लौट गये और फिजा को मरने के लिए छोड़ दिया |

:- नारी जाति का तब भी अपमान नही हुआ जब केन्द्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जैसवाल ने कहा की बीबी जब पुरानी हो जाती है तब मजा नही देती | नारी जाती का अपमान तब भी नही हुआ जब हरियाणा कांग्रेस के प्रवक्ता ने कहा की लडकीयाँ अपनी मर्जी और सहमती से अपना बलात्कार करवाती है ..|

--फिर जब मोदी ने सुनन्दा पुष्कर के बैंक खाते में ५० करोड़ दुबई से ट्रांसफर होने फिर उसे सच पाए जाने पर शशी थरूर को मंत्रीमंडल से हटने पर बोला तो इसमें नारी जाती का अपमान कैसे हो गया ?

शशी थरुर और मोदी जी मे कोई तुलना ही नहीं की जा सकती |

इस 'कांग्रेसी' शशी थरूर जैसा अयाश आदमी जो अभी तक मौज- मस्ती तथा महिलाओं की दौलत लूटने के लिए तीन शादियाँ कर चूका है, और अपने जीवन में मजे करने और सत्ता सुख भोगने वाला है | भोग विलास में इतना डूबा है कि एक के बाद एक तीन तीन शादी करता गया |

फिर भी बेशर्मो की तरह कहता है कि मेरी बीबी बहुमुल्य है |

अगर इसकी तीसरी बीबी इसके लिए बहुमूल्य है तो फिर इसकी पहले की दो बीबियाँ क्या थी ?

वो दोनों क्या इसके लिए हवास मिटाने का जरिया मात्र थीं ??

एक इंसान पहले दो- दो पत्नियों से बच्चे पैदा करके छोड़ देता है फिर नारी जाति का अपमान कौन करता है ?


ऐसा इंसान मोदी जैसे महापुरुष से कैसे अपनी तुलना कर सकता है ? जिसने देश हित के लिए बाबा रामदेव जी तथा अन्ना जी जैसे त्यागी संतों की तरह जिंदगी भर शादी ना करने का फैसला लिया, और ना ही आजतक अपने पद से अपने परिवार के किसी व्यक्ति विशेष को कोई निजी लाभ पहुँचाया.. !

जिसका कोई परिवार नही, बाल-बच्चे नही उसके नजर में सारे नागरिक उसके माता- पिता भाई- बहन के समान हैं ! उसको सभी के सुख- दुःख की चिंता है, ना कि अपने पत्नी और बच्चों की !थरुर क्या जाने बृहद परिवार की परिभाषा !


कांग्रेस भगाओ, देश बचाओ..

जय हिन्द, जय भारत ..
 
Top