पोरबंदर।
यह दृश्य है गुजरात के पोरबंदर शहर का,

जहां कार्यरत श्रीराम गौशाला पिछले 20 वर्षो से अपंग गाय-भैंसों के उपचार और उनकी सेवा-चाकरी का कार्य करती आ रही है।
रविवार को यहां मधु नामक गाय की मौत हो गई।
इस गाय से यहां के लोगों का इतना लगाव था कि उसकी मौत की खबर से लोग गमगीन हो उठे।
गौशाला के कर्मचारियों ने मधु की पूरी शास्त्र-विधि के बाद उसकी शव यात्रा निकाली और अंतिम संस्कार किया।
पशु प्रेम का अनोखा दृश्य तब देखने को मिला जब इस शवयात्रा में गौशाला के कर्मचारी ही नहीं, बल्कि शहर के लोग भी जुड़ते चले गए और उसे कंधा दिया। गौशाला के कर्मचारी बताते हैं कि मधु नामक यह गाय इतनी शालीन थी कि जब इसे चारा डाला जाता था और इसी बीच अगर कोई दूसरी गाय इसका चारा खाना आ जाती थी,
तब वह खुद-ब-खुद वहां से हट जाती थी।

Translation in English

The below photo is taken when a death of cow in Porbandar (gujarat)

Where workers of SHRI RAM GAUSHALA is serving cow treatment and other basic requirement from last 20 years.
On Sunday a cow named as MADHU pass away cos of some health issues. This cow was so connected with workers and village people that after her death whole village did a proper puja and other rituals for her and burnt her like as we do after death of any other human being.

This is called as LOVE FOR MOTHER GAU MATA

Please share the story and spread the message.

'JAI HIND JAI GAU MATA


Source : Facebook
 
Top