नपुंसकता का क्या इससे बड़ा उदाहरण कोई हो सकता है ?
जिसे कूटनीति कहकर ये सरकार अपनी कायरता छुपा रही है वो यक़ीनन निर्लाजता और कायरता का बहुत बड़ा उदाहरण है, अब चीन के लिए 1962 यद्ध में मारे गए सैनिकों को भी याद नहीं किया जाएगा.......

यही होता है जब महारथियों की सेना का नेत्रित्व एक शिखंडी करता है.

 
Top